मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योगा कार्यक्रम में प्रतिभाग किया

देहरादून – मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर परमार्थ निकेतन, ऋषिकेश में आयुष एवं आयुष शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित योगा कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। इस दौरान मुख्यमंत्री धामी को परमार्थ निकेतन द्वारा गंगा पुरस्कार से सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री धामी ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की बधाई देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूरदर्शी सोच के कारण आज योग जन-जन तक पहुंचा है, लोगों में योग के प्रति उत्साह हो यह सपना अब पूरा होता दिख रहा है।उन्होंने कहा कि शरीर और मन दोनों को सेहतमंद बनाए रखने के लिए नियमित रूप से दिनचर्या में योगासनों को शामिल करके लाभ प्राप्त किया जा सकता है। योग से संपूर्ण शरीर की दिशा एवं दशा बदलती है साथ ही जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आते हैं।

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि ऋषिकेश योग, धर्म, संस्कृति एवं आयुष की धरा है। जिस तरह ऋषिकेश से मां गंगा पूरे देश को जीवन देने का कार्य करती है, उसी प्रकार ऋषिकेश से योग का संदेश पूरे विश्व में जाता है। योग किसी व्यक्ति मात्र के लिए नहीं, संपूर्ण मानवता के लिए है। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि इस बार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम मानवता के लिए योगभी मनुष्य एवं मानवता हेतु योग के सकारात्मक संकेतों को दर्शाता है। हमारा देश मानवता की सेवा का जीता जागता उदाहरण है।उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा ‘सर्वे भवन्तु सुखिनः, सर्वे सन्तु निरामय:’ की भावना का संदेश दिया है। कोरोना काल के बाद मेगा वैक्सीनेशन का कार्य भारत वर्ष में चलाया गया, साथ ही मानवता का परिचय देते हुए दुनिया भर में भारत द्वारा वैक्सीन बांटने का कार्य किया गया। इस दौरान परमार्थ निकेतन के प्रमुख चिदानंद सरस्वती  महाराज, कैबिनेट मंत्री प्रेम चंद अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल, विधायक श्रीमती रेनू बिष्ट, विधायक दुर्गेश्वर लाल सहित जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी व अन्य सम्मानित जन उपस्थित रहे।

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published.