आवाज दो हम एक हैं, गलवां घाटी में चीन ने धोखे से किया हमला 20 जवान शहीद

आवाज दो हम एक हैं, गलवां घाटी में चीन ने धोखे से किया हमला 20 जवान शहीद

सोमवार रात्रि को भारतीय सेना की एक टुकड़ी के साथ कमांडिंग ऑफिसर चीन कैंप में वार्ता के लिए गए थे। मौका पाकर चीन के (450-500) सैनिक की संख्या जो लोहे की रॉड, किंलों से लगे डंडे एवं नुकीले पत्थरों के साथ कमांडिंग अफसर को घेर कर हमला बोल दिया। इसमें कम से कम भारतीय  20 जवान (सी ओ सहित) शहीद हो गए। यह चीन की चाल, चरित्र एवं चेहरे के अनुसार कायराना हरकत है।

ज्ञात रहे कि पिछले कुछ समय से चीन विश्व में कोरोना उत्पन करने वाला देश, हांगकांग की आवाज दबाने एवं ताइवान को कब्जाने को लेकर विश्व में अलग-थलग पड़ा है, यह चीन की विस्तारवादी नीति का परिणाम है, एवं इसको लेकर चीन विश्व में अलग-थलग पड़ा है। भारत अमेरिका की नजदीकियां, चीन की आंखों में किरकिरी बना हुआ है। इसको लेकर चीन कई दफा अप्रत्यक्ष रूप से धमकी भी देता रहा है।

चीन, पाकिस्तान एवं हमारे पडोसी नेपाल को भी उकसा कर अप्रत्यक्ष रूप से भारत के लिए समस्याएं पैदा कर रहा है। यह समय भारत के लिए परीक्षा की घड़ी है।

भारत में विपक्षी राजनीतिक पार्टियां की भूमिका बहुत ही नकारात्मक रही है एवं यह पार्टियां चीन को जवाब देने के बजाए भारतीय प्रधान मंत्री से ही सवाल करती रहीं है। किन्तु जब देश की संप्रभुता का प्रश्न हो ऐसा समय में पुरे देश को एक होना है और चीन जैसे गुंडे को मुस्तैदी से जवाब देना होगा।

चीन प्रोपेगंडा में बहुत ही माहिर है और प्रोपेगंडा उसकी युद्ध नीति का मुख्य भाग है। हमें विश्व समुदाय में चीन की काली करतूतों को सामने ला कर दुनिया को दिखाना होगा के एक कायर देश जिसने पूरी दुनिया को कोविड-19 दे कर कैसे आँख दिखा रहा है। हम अधिकांश भारतीय व्हाट्सप्प एवं सोशल मीडिया पर ट्रिगर दबा कर हमला करते रहते हैं, किन्तु अब समय आ गया है के हम आपसी मतभेदों को भुला कर हर भारतीय एक योद्धा समझें और चीन को अपने अपने तरीकों से जवाब दें।

आज चीन की दादा गिरी में भारतीयों का भी बहुत योगदान रहा है। हमने दीपक, दीपक की बाती, महिलाओं की बिंदी और मांग का सिंदूर से ले कर हमारे देवी देवताओं की चित्र भी चीन द्वारा बनाये व खरीद कर अपने को धन्य समझ रहे हैं इससे इस देश के पुराने सभी कुटीर उद्योग करीब करीब बंद हो गए हैं और नौजवानो की बेरोज़गारी का कारण बना हुआ है। अतः प्रधान मंत्री का सन्देश “स्वालंबन भारत” को ध्यान में रख कर चीन के बने हुए प्रत्येक उत्पाद की होली जला कर बहिष्कार करें एवं सच्चे भारतीय होने का प्रमाण दें, यही हमारे वीर शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। – डीडी मित्तल

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *