उत्तराखंड बन रहा शूटिंग का नया डेस्टिनेशन, राज्य सरकार के पास बढ़ते जा रहे आवेदन

उत्तराखंड : कोविड संकट में उत्तराखंड सरकार के पास फिल्म, वीडियो और विज्ञापन की शूटिंग के लिए अभी तक 60 से अधिक आवेदन आ चुके है। उत्तराखंड फिल्म विकास परिषद के अनुसार, परिषद को हर दिन शूटिंग के लिए दो आवेदन प्राप्त हो रहे हैं। राज्य की लोकेशन में फिल्म निर्माताओं की रुचि लगातार बढ़ने लगी है जिससे राज्य सरकार समेत पूरी टीम भी उत्साहित है।
इस साल राज्य सरकार ने 20 मई को फिल्म शूटिंग को लेकर एसओपी जारी की थी। इसके बाद फिल्मकारों ने शूटिंग के लिए उत्तराखंड का तेजी से रुख किया।

राज्य में शूटिंग के लिए आकर्षण की वजह :
– राज्य की लोकेशन में 75 प्रतिशत फिल्म की शूटिंग पर डेढ़ करोड़ की सब्सिडी है
– गढ़वाली और कुमाऊंनी भाषा की फिल्मों के लिए यह अनुदान 20 लाख रुपये है
– शूटिंग के दौरान फिल्म यूनिट को पर्यटन विभाग व सरकारी गेस्ट हाउस 50 प्रतिशत की रियायत है
– उत्तराखंड में फिल्म प्रदर्शन पर टिकट पर 30 प्रतिशत जीएसटी का लाभ
– शूटिंग के दौरान पांच पुलिस के जवान निशुल्क उपलब्ध कराए जाते हैं

उत्तराखंड फिल्म विकास परिषद के नोडल अधिकारी केएस चौहान इसका श्रेय राज्य की फिल्म नीति और राज्य सरकार के सफल प्रयासों को देते है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री व राज्य सरकार के अधिकारियों की ओर से फिल्म जगत में यह भरोसा दिलाया गया है। अब उत्तराखंड की लोकेशन में शूटिंग के लिए अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराया जाएगा।
उन्होंने आगे कहा कि अप्रैल से यानी लॉकडाउन के दौरान परिषद के पास फिल्मों, विज्ञापनों, म्यूजिक वीडियो, वेबसीरीज, गढ़वाली व अन्य क्षेत्रीय भाषाओं के गानों की शूटिंग के लिए 61 आवेदन प्राप्त हुए। मतलब औसतन हर दिन में दो आवेदन हमें प्राप्त हो रहे हैं। पिछले तीन सालों में राज्य सरकार ने फिल्म निर्देशकों का विश्वास जीता है ओर अपना उत्तराखंड फिल्म शूटिंग का नया डेस्टिनेशन बन रहा है। साथ ही आने वाले समय मे सब देखेंगे कि यहा के स्थानीय युवाओं को रोजगार के साथ-साथ टूरिज्म के क्षेत्र से लेकर अन्य क्षेत्रो में नया उत्तराखंड बनता, संवारता दिखाई देगा।

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published.