तीन दिवसीय जिला स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी व प्रतियोगिता सम्पन्न

देहरादून- गुरुवार को एमकेपी इंटर कालेज के सभागार में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय एवं नवप्रवर्तन संस्थान (भारत सरकार) के तत्वावधान में आयोजित जिला स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी व प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसमें चकराता व कालसी के प्रतिभागियों ने अपने-अपने मॉडल प्रस्तुत किये। इस दौरान मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री के ओएसडी धीरेन्द्र सिंह पंवार ने मॉडलों को अवलोकन किया। साथ ही छात्र-छात्राओ से मॉडलों से जुड़ी जानकारी हासिल की। उन्होंने छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत मॉडलो को खूब सराहा। इस प्रदर्शनी में छात्र-छात्राओं ने मॉडलों के जरिये अपनी वैज्ञानिक सोच का प्रदर्शन किया। जिसके बाद प्रतियोगिताओं के विजेताओं ने नाम घोषित किये गये जिसमें जीजीआइसी लक्खीबाग से तान्या, गांधी इंटर कॉलेज से साराजीत,जीआइसी दूधली से मनप्रीत सिंह, रक्षा अनुसंधान विद्यालय से तन्वी रावत, आदित्य राठौर, दीक्षा सैनी, जीएचएस ऋषिकेश से तान्या तडिय़ाल, उच्च प्राथमिक विद्यालय अजबपुर से सारिका, आर्मी स्कूल रायवाला से ईशान, ईकोल ग्लोबल से दिया गोदरा, जीआइसी होरावाला से निकिता, फलक अजीज, एशियन स्कूल से अहमद नूर, जीआइसी झबरा से सोनू, जीआइसी डूंगा से लखवीर, उच्च प्राथमिक विद्यालय लांघा पोखरी से शिवानी, जीआइसी ठकरासंधार से कशिश, आर्यन भार्गव से अमित कुमार, उच्च प्राथमिक विद्यालय शीतला विहार से रोहन कुमार व उच्च प्राथमिक विद्यालय विकासनगर से सानिया शामिल रहीं। तीन दिवसीय प्रतियोगिता में विभिन्न विद्यालयों के करीब 217 छात्र-छात्राओं ने अपने-अपने मॉडल प्रस्तुत किए।

इस दौरान मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी आशा रानी पैन्यूली, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक यशवंत चौधरी, खंड शिक्षा अधिकारी रायपुर सुभाष तोमर, पंकज शर्मा, बीपी सिंह, जसपाल सिंह नेगी, आरती बडोली, पवन शर्मा, सर्वेश्वरी, दलजीत सिंह चारू समेत अनेक शिक्षक मौजूद थे।

जिला स्तरीय प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 19 बाल वैज्ञानिकों का चयन राज्यस्तरीय प्रतियोगिता के लिए किया गया, जो छह व सात फरवरी को राज्य स्तरीय इंस्पायर अवार्ड प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे। जिला स्तरीय प्रतियोगिता के लिए 334 विद्यार्थियों का चयन किया गया था जिसमें से 217 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया। प्रतियोगिता के निर्णायकों में राष्ट्रीय नवप्रवर्तन संस्थान की डा$ हिमानी गुलेरिया, दून विवि के प्रोफेसर डॉ. विपिन सैनी, यूसर्क के वैज्ञानिक डा. भवतोष शर्मा शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *