गरीब की बेटी बनेगी इंजीनियर, पापा का सपना कर दिखाया सच

जेईई-मेन में दून की बेटी स्वाती सक्सेना ने अपनी मेहनत और लगन से अपने पापा का सपना सच कर दिखाया है। वह कहने के लिए सामान्य परिवार से ताल्लुक रखती हैं, पर इरादे बड़े हैं। जिन्हें पूरा करना भी वह बखूबी जानती हैं। नवादा में रहने वाली स्वाती के पिता कृष्ण कुमार घर पर ही चक्की चलाकर गुजर बसर करते हैं। स्वाती ने 12वीं की परीक्षा हिम च्योति स्कूल से पास की। इसके बाद बलूनी क्लासेज की ओर से स्वाती को मुफ्त में जेईई की कोचिंग दी गई। स्वाती ने जेईई मेन में 92.019 परसेंटाइल प्राप्त किया है। 

स्वाती ने बताया कि 7वीं कक्षा से ही उसने इंजीनियर बनने का सपना देखा था। जो अब पूरा होने जा रहा है। स्वाती ने बताया कि वह मैकेनिकल इंजीनियर बनना चाहती हैं। स्वाती के पिता कृष्ण कुमार ने बताया कि उनकी बेटी दिन में कई घंटे पढ़ाई करती है। उसका प्रयास अब फलीभूत होने जा रहा है। वह बताते हैं कि पढ़ाई के बाद उनकी बेटी घर में काम और चक्की में भी हाथ बंटाती है। स्वाती के घर में माता-पिता के अलावा एक छोटा भाई है, जो 9वीं कक्षा में पढ़ता है। बलूनी क्लासेज के प्रबंध निदेशक विपिन बलूनी के अनुसार अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के तहत संस्थान ऐसे तमाम बच्चों को प्रोत्साहित कर रहा है, जिनमें काबिलियत है, पर आर्थिक स्थिति सपनों के आड़े आ रही है। ऐसे बच्चों को नि:शुल्क कोचिंग दी जाती है-

सोशल मीडिया

About The Lifeline Today

View all posts by The Lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published.