मां पूर्णागिरि मेले पर 31 मार्च तक रोक

कुमाऊँ-कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए हर जगह सतर्कता बरती जा रही है। कोरोना वायरस का असर स्कूल, पर्यटन, कारोबार सेमिनार,आयोजन हर क्षेत्र में  साफ दिखाई दे रहा है। वहीं अब प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए देश के सुविख्यात मां पूर्णागिरि मेले को रोक दिया है। सोमवार को डीएम एसएन पांडेय, एसपी लोकेश्वर सिंह ने मंदिर समिति, पालिकाध्क्ष, टैक्सी यूनियन के साथ कि वार्ता के बाद 31 मार्च तक के लिए मेले का आयोजन रोकने का निर्णय लिया है।

मां पूर्णागिरि में लगने वाला मेला तीन माह चलता है। इस दौरान देशभर से बड़ी तादाद में श्रद्धालु मां के दर्शन करने के लिए पहुंचते हैं। शुरू होने के बाद कुछ दिनों तक मेले में आवाजाही ठीक रही, लेकिन पिछले दो दिनों से पूर्णागिरि मेले में एकाएक श्रद्धालुओं की संख्या में खासी गिरावट आ गई है। कोरोना वायरस व बारिश के कारण भी श्रद्धालु मां पूर्णागिरि धाम में कम पहुंच रहे हैं। हांलाकि इस दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना की जांच के लिए बूम मेला क्षेत्र में चिकित्सा दल की एक टीम तैनात की गई, जो श्रद्धालुओं की जांच करती रही। वहीं कोरोना के महामारी घोषित होने के बाद प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए 31 मार्च तक के लिए मेले के आयोजन को रोक दिया है । ऐसे में दुकानदारों के अलावा मुंडन व पार्किग शुल्क के ठेकेदारों व अन्य व्यापारियों को भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। जबकि इस बार यह ठेके गत वर्ष की अपेक्षा महंगे गए हैं। वहीं मेले में व्यापार करने वाले टनकपुर क्षेत्र के व्यापारियों का व्यापार भी प्रभावित हो रहा है। हालांकि प्रशासन की ओर से भरपाई को भरोसा दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *