प्रमोशन में आरक्षण को लेकर राज्य कर्मचारियों के आंदोलन को समाप्त करने के लिए मुख्य सचिव ने लिखा पत्र, पढ़िए

देहरादून-उत्तराखंड सरकार ने प्रमोशन में आरक्षण को लेकर राज्य कर्मचारियों के आंदोलन को समाप्त करने के लिए फिर से अपील की है। इसके तहत मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने कर्मचारी संगठनों को पत्र लिखा है। इस पत्र में कोरोनावायरस संक्रमण से निपटने और विभागीय बजट की तैयारियों का हवाला दिया गया है।  मुख्य सचिव ने लिखा है कि कोरोनावायरस विश्व स्तर पर आपदा की तरह फैल रहा है। देश में भी हर दिन संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। यह अलग बात है कि उत्तराखंड में करोना का कोई मामला सामने नहीं आया है, लेकिन सरकार अपने स्तर पर इससे बचाव और रोकथाम के युद्धस्तर पर प्रयास कर रही है।

केंद्रीय गृह सचिव एवं मंत्रिमंडल सचिव के स्तर से लगातार वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की जा रही है। इसी को लेकर भारत सरकार के अपर सचिव ने देहरादून आकर तैयारियों का जायजा भी लिया है। ऐसी स्थिति में कर्मचारियों को बचाव एवं रोकथाम कार्यों के लिए जुटना होगा, लेकिन आंदोलन के चलते तैयारियां प्रभावित हो रही हैं।

इसके अलावा विधानसभा के बजट सत्र का दूसरा चरण 25 मार्च से भराड़ीसैंण में चलना है। उन्होंने लिखा है कि विभागों को परफार्मेंस बजट और आउटकम बजट तैयार कर सदन में रखना है। इसी के साथ वित्तीय वर्ष में विभागों के खर्च का अंतिम समय बेहद महत्वपूर्ण होता है। मार्च महीने में खर्च संबंधित कई कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करना है। ऐसे में कई कर्मचारियों के आंदोलन पर होने से प्रदेश में चुनौतीपूर्ण स्थिति पैदा हो गई है। मुख्य सचिव ने अपील की है कि ऐसे समय में राज्य हित में कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से आंदोलन वापस लेना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *