प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा ने एन.आई.सी, सचिवालय में प्राचार्यों एवं प्रत्येक जनपद के नोडल अधिकारियों के साथ वीडियों कॉफ्रेंसिग के माध्यम से बैठक ली।

देहरादून – प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री आनन्द बर्द्धन ने मंगलवार को एन.आई.सी, सचिवालय में राजकीय एवं अनुदानित महाविद्यालयों के प्राचार्यों एवं प्रत्येक जनपद के नोडल अधिकारियों के साथ वीडियों कॉफ्रेंसिग के माध्यम से बैठक ली।

उन्होंने कहा कि सभी महाविद्यालयों में शिक्षक टीचिंग प्लान, पाठ्यक्रम पूर्ण होने की स्थिति, शिक्षकों की तैनाती, छात्र-छात्राओं की संख्या, एडूसेट के माध्यम से शिक्षण कार्य, नेट वर्क कनेक्टिविटी की उपलब्धता के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी। जिन दूरस्थ स्थित महाविद्यालयों में कतिपय विषयों में शिक्षकों की तैनाती नहीं है एवं स्थानीय स्तर पर प्राचार्य के द्वारा विज्ञापन निकालने के पश्चात भी शिक्षक उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं, वहाँ यह निर्देश दिये गये कि निदेशालय स्तर से उन महाविद्यालयों हेतु विज्ञापन प्रकाशित किया जाए एवं उन दूरस्थ महाविद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती की जाए।

उन्होंने कहा कि सभी स्नात्तकोत्तर महाविद्यालयों में 10-20 बच्चों का ग्रुप बनाकर मेन्टरशिप की व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए गए। महाविद्यालयों में स्थित लाइब्रेरी में पाठ्यक्रम पुस्तकों के साथ रिफ्रेन्सबुक एवं विभिन्न प्रतियोगितात्मक परीक्षाओं से सम्बन्धित पुस्तकें/सामग्री भी सम्मलित करने एवं पाठ्यक्रम से सम्बन्धित नावेललोरिएट की पुस्तकों की भी व्यवस्था करने हेतु निर्देशित किया गया। जिन महाविद्यालयों में नेट कनेक्टिविटी की समस्या है वहां .टी.एच के माध्यम से भी छात्र-छात्राओं की अध्ययन की सुविधा प्रदान की जाए उक्त के साथ-साथ प्रत्येक स्ट्रीम के टॉपर बच्चों को ‘‘स्टेट स्कॉलरशिप स्कीम’’ एवं प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी हेतु ‘‘कोचिंग स्कीम’’ बनाने के निर्देश उच्च शिक्षा निदेशालय को दिए गए एवं इंटर डिसीपिलिनेरी एंड सॉफ्ट स्कील पर भी योजना बनाने हेतु उच्च शिक्षा निदेशालय को निर्देशित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.