प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सस्ती दरों पर पैनिक बटन उपलब्ध कराने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग कर रहा तैयारी

देहरादून– सरकार ने 25 जनवरी, 2019 को राज्य में महिलाओं की सुरक्षा के लिए  पैनिक बटन योजना का शुभारंभ किया था। जिसका ट्रायल के रूप में देहरादून, टिहरी, हरिद्वार और पौड़ी जिलों में महिलाओं को 150 पैनिक बटन वितरित किए गए। महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से सामाजिक दायित्व (सीएसआर) फंड से पैनिक बटन डिवाइस की खरीद की गई थी। बाजार में डिवाइस के रेट अधिक होने से आम महिला के लिए डिवाइस खरीदना संभव नहीं है। इसलिए अब विभाग पैनिक बटन पर सब्सिडी देने के लिए प्रस्ताव तैयार कर रहा है। डिवाइस की खरीद पर सब्सिडी देने के लिए विभाग की ओर से सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएगा। इसके बाद आम महिलाओं के लिए यह डिवाइस पांच सौ रुपये में उपलब्ध हो सकेगा।

पैनिक बटन एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है। आपातकालीन स्थिति में पैनिक बटन दबाने से पुलिस को जीपीएस के माध्यम से आपकी लोकेशन का पता लग जाता है। पैनिक बटन डिवाइस को ब्लूटूथ के जरिये मोबाइल से कनेक्ट किया जाता है। बटन दबाने पर डिवाइस में फीड किए पुलिस समेत दस परिचितों के नंबरों पर मैसेज पहुंच जाता है। जीपीएस लोकेशन का पता लगने पर पुलिस 30 सेकेंड में पीड़ित तक पहुंच सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.