अब सचिवालय में कराये जाएंगे कोरोना टेस्ट

देहरादून : उत्तराखंड के सचिवालय में कोरोना संक्रमण के लिए एंटीजन टेस्ट सोमवार से शुरू हो जाएंगे और यह तभी मुमकिन है अगर यहां सारी व्यवस्थाएं सही रही। अब सचिवालय डिस्पेंसरी ने सभी कर्मचारियों को अपना रिकॉर्ड उपलब्ध कराने को कहा है। कर्मचारी जिनको खांसी, बुखार या जुकाम जैसे लक्षण होंगे, उनको टेस्ट के लिए प्राथमिकता दी जाएगी। उसके बाद बाकी कर्मचारियों का टेस्ट होगा।

यह सब इसलिये क्योंकि पिछले दिनों में सचिवालय में कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आये हैं। इसके कारण मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन ने सभी कर्मचारियों को एंटीजन टेस्ट कराने के आदेश दिए थे। सोमवार से शुरू इन टेस्ट के दौरान सामाजिक दूरी का पालन जरुरी होगा। इसके लिए सभी व्यवस्थाओं के निर्देश मुख्य सचिव ने सचिवालय डिस्पेंसरी के चिकित्साधिकारी डॉ. विमलेश जोशी को दिए हैं।

डिस्पेंसरी की ओर से सभी अनुभाग अधिकारियों, निजी सचिवों, अधिकारियों व उनके अधीन के कर्मचारियों के नाम, मोबाइल नंबर और साथ ही उम्र सचिवालय के चीफ फार्मेसिस्ट को उपलब्ध कराने को कहा गया है। फिलहाल सचिवालय में लगभग 1450 नियमित कर्मचारी हैं। होमगार्ड व पीआरडी के कर्मचारियों को मिलाकर 2000 कर्मचारी हैं और अब इन सभी के टेस्ट होने हैं ।

बता दें कि सचिवालय के विभागों ने भी कोरोना टेस्ट करवाने के लिए मांग की है। परिषद के प्रदेश कार्यकारी महामंत्री अरुण पांडेय ने बताया कि प्रतिदिन विभागीय कार्यालयों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। सरकार द्वारा कार्यालयों के कर्मचारियों के टेस्ट के लिए सुविधा दी जानी चाहिए।

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published.