राज्य मंत्री रेखा आर्य ने टीलू रौतेली पुरस्कार के लिए 21 महिलाओं के नामों की घोषणा की

महिला सशक्तीकरण और बाल विकास राज्य मंत्री रेखा आर्य ने साल 2019-20 के लिए तीलू रौतेली पुरस्कारों के नामों की घोषणा की है। बताया कि इस वर्ष 21 महिलाओं को वीरांगना तिलु रौतेली की जयंती पर पुरस्कार दिया जाएगा। इसके साथ ही सर्वश्रेष्ठ 22 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को भी पुरस्कृत किया जाना है।

आठ अगस्त को पुरस्कृत होने वालों में अल्मोड़ा से प्रीति भंडारी, शिवानी आर्य, बागेश्वर से गुंजन बाला, चंपावत से जानकी चंद, चमोली से शशि देवली, देहरादून से उन्नति बिष्ट, संगीता थपलियाल, गीता मौर्या, हरिद्वार से पुष्पांजलि अग्रवाल, नैनीताल से कंचन भंडारी, मालविका माया उपाध्याय, पिथौरागढ़ से सुमन वर्मा, शीतल पौड़ी गढ़वाल से मधु खुगशाल टिहरी गढ़वाल से कीर्ति कुमारी, रुद्रप्रयाग से बबीता रावत, सुमती थपलियाल, ऊधमसिंह नगर से ज्योति उप्रेती अरोड़ा, मीनू लता गुप्ता, चंद्रकला राय और उत्तरकाशी से हर्षा रावत शामिल हैं।

22 आंगनबाड़ी कार्यकत्री होंगी सम्मानित
राज्य मंत्री ने बताया कि उत्कृष्ट कार्य के लिए 22 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को सम्मानित किया जाएगा। इनमें अल्मोड़ा से नीता गोस्वामी, गीता देवी, बागेश्वर से पुष्पा, चंपावत से हेमा बोरा, चमोली से अंजना रावत, देहरादून से हयात फातिमा, सुधा, सीमा, हरिद्वार से पूनम, सुमनलता यादव, असमा, नैनीताल से गंगा बिष्ट, समारेज, निर्मला पांडे, पिथौरागढ़ से चंद्रकला, पौड़ी से अर्चना देवी, रुशनी, रुद्रप्रयाग से सुशीला देवी, टिहरी गढ़वाल से लक्ष्मी देवी, ललिता देवी, उत्तरकाशी से कुसुम महर और बीना चौहान।

कौन है तीलू रौतेली
उत्तराखंड के ऐसे वीरांगना, जिन्होंने 15 साल की उम्र में सात साल तक दुश्मन के राजाओं को चुनौती दी। 15 से 20 साल की उम्र में सात युद्ध लड़ने वाली तीलू रौतेली दुनिया की एकमात्र ऐसी नायिका हैं, जिनकी जयंती पर राज्य सरकार हर साल उत्कृष्ट कार्यों के लिए महिलाओं को पुरस्कार देती है।

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *