उत्तराखंड के हेमकुंड साहिब और प्रसिद्ध फूलों की घाटी में जियो ने की 4जी सेवाएं शुरू

उत्तराखंड : राज्य के प्रसिद्ध तीर्थस्थल हेमकुंड साहिब और प्रसिद्ध फूलों की घाटी के दीदार को आने वाले यात्रियों के लिए एक अच्छी खबर है। हेमकुंड साहिब क्षेत्र अब 4जी नेटवर्क से जुड़ गया है।
3650 फुट की उंचाई पर स्थित हेमकुंड में रिलायंस जियो ने अपनी 4जी सेवाएं शुरू कर दी हैं। यहां तक ये सेवाएं पहुंचाने वाला जियो पहला ऑपरेटर है। इस कम्पनी ने हेमकुंड साहिब, घांघरिया और गोविंदघाट में तीन संचार टावर लगाए हैं। इससे हेमकुंड साहिब और फूलों की घाटी आये श्रद्धालुओं और पर्यटकों को काफी मदद मिलेगी।
हेमकुंड साहिब सिखों का एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल है। यह उत्तराखंड के चमोली जिले में समुद्रतल से 15225 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यहां की यात्रा काफी रोमांचभरी है, जिसमें हर साल देश-विदेश से कई श्रद्धालु यात्रा पर आते हैं। इसके साथ ही वे विश्व प्रसिद्ध फूलों की घाटी के दीदार को भी पहुंचते हैं। पहले यात्रा के दौरान नेटवर्क न मिल पाने की वजह से यात्रियों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। लेकिन अब जियो ने इस तीर्थस्थल को 4जी सेवा से जोड़ यात्रियों को एक बड़ी सौगात दी है।

धार्मिक और पर्यक स्थलों की जानकारी के लिए सिर्फ एक क्लिक
हेमकुंड साहिब के आसपास के पर्यटक और धार्मिक स्थलों की जानकारी भी अब सिर्फ एक क्लिक पर मिल सकेगी। दरअसल, हेमकुंड के मुख्य पड़ाव गोविंदघाट और घांघरिया गांव क्षेत्र में जियो के 4जी नेटवर्क ने काम करना शुरू कर दिया है। यात्रा के क्षेत्र में अब कॉलिंग के साथ ही वीडियो कॉलिंग भी आसानी से हो सकेगी। इसके साथ ही इंटरनेट की तेज स्पीड से आसपास के पर्यटक और धार्मिक स्थलों की जानकारी भी तुरंत मिल जाएगी, जिससे देवभूमि में टूरिस्ट इंडस्ट्री के बढ़ने की उम्मीद है।

घर बैठे परिजन भी कर सकेंगे दर्शन
देशभर से जो यात्री हेमकुंड साहिब के दर्शन को उत्तराखंड आते हैं, वो घर बैठे अपने परिजनों या दोस्तों को भी यहां के दर्शन करा सकेंगे। 4जी सेवा से जुड़ने के बाद अब वे यहां पहुंच कर अपने परिवारों से विडियो कॉलिंग के द्वारा जुड़ कर अपने अनुभव साझा कर पाएंगे। साथ ही, हाई स्पीड इंटरनेट से सर्फिंग भी अब आसान होगी। स्थानीय नागरिक और छोटे व्यापरियों को भी स्थानीय नेटवर्क मजबूत होने से आपसी संपर्क और स्थानीय व्यापार बढ़ने की उम्मीद है।

सरकार और जियो के बीच हुआ था समझौता
पिछले साल इंडस्ट्रियल समिट के दौरान राज् सरकार और रिलायंस जियो के बीच एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए गए थे, जिसके तहत उत्तराखंड के समस्त धार्मिक स्थलों तक जियो अपना 4जी नेटवर्क पहुंचा रहा है। राज्य के दुर्गम क्षेत्रों तक जियो नेटवर्क का विस्तार तेजी से कर रहा है, जिससे यहां दूरसंचार और 4जी इंटरनेट की मदद से पर्यटन उद्योग को भी बढ़ावा मिल सके।

राज्य में बढ़ते जा रहे जियो यूजर्स
राज्य में अपने 4जी नेटवर्क के दम पर जियो हर महीने बड़ी संख्या में ग्राहकों को जोड़ रहा है। गांवों और छोटे शहरों में रिलायंस जियो की पैठ बनाने में जियोफोन बेहद कारगर साबित हो रहा है। इसी के दम पर देश में पहली बार रिलायंस जियो ने ग्रामीण इलाकों में पहले नंबर पर है।

सात शहरों में हुई सेवा शुरू
हाल ही में राज्य के सात शहरों में देहरादून, ऋषिकेश, हरिद्वार, रूड़की, रूद्रपुर, हल्द्वानी और काशीपुर में रिलायंस जियो ने जियोफाइबर ब्रॉडबैंड सेवाएं शुरू की हैं। दावा किया गया है कि यहां एक लाख से अधिक घर जियोफाइबर से जुड़ चुके हैं। राज्य के अन्य इलाकों में भी जल्द ही जियोफाइबर सेवाए शुरू होने की उम्मीद है। वहीं, कंपनी वर्क फ्रॉम होम और छात्रों के लिए भी कई स्पेशल ऑफर्स चला रही है।

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *