राज्य के मानसून सत्र में ऑनलाइन भाग ले सकेंगे बुजुर्ग विधायक

देहरादून : उत्तराखंड राज्य में कोरोना संक्रमण का प्रभाव इस साल के विधानसभा के मानसून सत्र पर भी पड़ा है जो कि 23 सितंबर से शुरू होने वाला है।  कोरोना काल में सुरक्षित शारीरिक दूरी के मानकों जैसे दो गज दूरी का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए विधानसभा अनेक विकल्पों के मंथन में जुटी है।  इसी विषय में शुक्रवार को विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने विधानसभा मंडप का निरीक्षण किया और कहा कि सत्र के दौरान 65 साल से अधिक विधायकों की सदन में ऑनलाइन भागीदारी को लेकर विचार-विमर्श चल रहा है। साथ ही सदन के भीतर दर्शक व पत्रकार दीर्घा का उपयोग विधायकों के बैठने की व्यवस्था के लिए किया जा सकता है। सत्र के पहले सभी विधायकों का कोरोना जांच के मद्देनजर रैपिड टेस्ट कराया जायेगा।

सरकार ने विधानसभा का तीन दिवसीय मानसून सत्र देहरादून में करने का निर्णय लिया है। इसके बीच कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी के कारण मानकों का अनुपालन भी ज़रूरी है। क्योंकि 70 सदस्यों की विधानसभा सभामंडप में विधायकों के बैठने की जगह सीमित है।

विस अध्यक्ष अग्रवाल ने शुक्रवार को विधानसभा मंडप का निरीक्षण किया और इसी दौरान कोरोना काल में शारीरिक दूरी के मानकों का जायजा भी लिया। साथ ही अन्य विषयों पर उन्होंने अधिकारियों से बातचीत की। पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में उन्होंने कहा कि कोरोना काल के इस संकट में इस बार सत्र चलना चुनौतीभरा है और इसे स्वीकार करते हुए सुरक्षा के सभी इंतजाम पुख्ता कर सत्र चलाया जाएगा।

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published.