उत्तराखंड में इस जगह तैयार होगा देश का पहला ‘स्नो लेपर्ड कंजर्वेशन सेंटर’

उत्तरकाशी- गंगोत्री नेशनल पार्क में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) के प्रोजेक्ट ‘सिक्योर हिमालय’ के तहत देश के पहले ‘स्नो लेपर्ड कंजर्वेशन सेंटर’ तैयार करने की कवायद तेज हो गई है। स्नो लेपर्ड की यहां के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में मौजूदगी के प्रमाण अक्सर कैमरा ट्रैप में कैद होने वाली तस्वीरों से मिलते आ रहे हैं। बावजूद इसके अभी तक यह रहस्य ही है कि उत्तराखंड में इनकी वास्तव में संख्या है कितनी। इसी को देखते हुए सिक्योर हिमालय प्रोजेक्ट में स्नो लेपर्ड गणना का कार्यक्रम तैयार किया जा रहा है। यह गणना सर्दी खत्म होने के बाद की जाएगी।

इस सेंटर का डिजाइन नीदरलैंड के मशहूर आर्किटेक्ट प्रो.ऐने फीनिस्त्रा ने तैयार किया है। 5.30 करोड़ की लागत से बनने वाले सेंटर में स्नो लेपर्ड के संरक्षण-संवद्र्धन से संबंधित प्रशिक्षण दिया जाएगा। साथ ही यहां पर्यटकों को भी इस दुर्लभ जीव के बारे में जानकारी मिल सकेगी। इस बीच सचिवालय में प्रमुख सचिव वन आनंद वर्द्धन की अध्यक्षता में हुई बैठक में भी इस प्रोजेक्ट को लेकर प्रस्तुतीकरण दिया गया।

यहां प्रमुख सचिव वन आनंदवर्द्धन ने स्नो लेपर्ड कंजर्वेशन सेंटर के संबंध में समीक्षा की। इस मौके पर सेंटर का डिजाइन तैयार करने वाले प्रो.फीनिस्त्रा ने प्रस्तुतीकरण दिया। इससे पहले, वन मुख्यालय में प्रमुख मुख्य वन संरक्षक (पीसीसीएफ) जयराज के समक्ष भी कंजर्वेशन सेंटर से संबंधित प्रस्तुतीकरण दिया गया। पीसीसीएफ के मुताबिक यह देश का पहला स्नो लेपर्ड कंजर्वेशन सेंटर है। दूसरी तरफ यह स्नो लेपर्ड के संरक्षण की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा। कोशिश की जा रही है कि यह सालभर के अंदर बन के तैयार हो जाए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *