नागरिकता कानून (सीएए) पर ‘भय-भ्रम का भूत’ बेनकाब- मुख्तार अब्बास नकवी

वरिष्ठ भाजपा नेता एवं केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि नागरिकता कानून (सीएए) पर ‘हॉरर-हंगामा’, ‘हवा-हवाई’ हो रहा है और लोगों के बीच कुछ राजनैतिक दलों द्वारा खड़ा किया गया ‘भय-भ्रम का भूत’ बेनकाब हो चुका है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके साथी ‘झूठमेव जयते’ का झंडा बुलंद कर लोगों को भटकाने-भरमाने की कोशिश कर रहे हैं।

नागरिकता कानून पर भाजपा के देशव्यापी जन जागरण कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को लखनऊ में प्रेस वार्ता को सम्बोधित करते हुए नकवी ने कहा कि कांग्रेस एवं उसके साथियों द्वारा अविश्वास और अफवाह के जरिये अमन को अगवा करने की साजिश, समाज के एकता-सौहार्द के ताने-बाने को नुकसान पहुंचाने के मकसद से की जा रही है।

नकवी ने कहा कि पोलिटिकल पाखंड से प्रभावित प्रदर्शनों के जरिये देश के सौहार्द-एकता को छिन्न-भिन्न करने का प्रयास परास्त होगा। कांग्रेस और उसके साथी ‘झूठमेव जयते’ का झंडा बुलंद कर लोगों को भटकाने-भरमाने की कोशिश कर रहे हैं। नागरिकता बिल को केंद्र बिंदु बनाकर ‘‘हॉरर हंगामा” हो रहा है जबकि नागरिकता कानून नागरिकता देने के लिए है, किसी की नागरिकता लेने के लिए नहीं।

उन्होंने कहा कि यह बड़े ही दुर्भाग्य की बात है कि कांग्रेस और उसके साथी जो जनता द्वारा जनतंत्र में नकार दिए गए हैं वे लोग छात्रों, युवाओं को अपने संकीर्ण राजनैतिक स्वार्थों के लिए अपनी ढाल बना रहे हैं। छात्रों-नौजवानों को चाहिए कि वे कांग्रेस और उसके साथियों द्वारा खड़ा किये गए भ्रम-भय के भूत से प्रभावित ना हों, और देश के एकता-सौहार्द के ताने-बाने को मजबूत करने में भागीदारी-हिस्सेदारी करें।

नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं गृह मंत्री अमित शाह ने हर मंच से देश को यह आश्वस्त किया है कि सभी भारतीयों के नागरिक, सामाजिक, धार्मिक, संवैधानिक अधिकार पूरी तरह सुरक्षित हैं। किसी भी भारतीय नागरिक के अधिकारों पर कोई खतरा न था, न है और न होगा। नकवी ने कहा कि भारत के मुसलमान के लिए हिंदुस्तान से ज्यादा महफूज और मजबूत जगह कहीं नहीं है जहाँ उसके नागरिक, सामाजिक, धार्मिक, संवैधानिक अधिकार पूरी तरह पत्थर की लकीर की तरह पुख्ता हैं।

उन्होंने कहा कि सिटीजनशिप अमेंडमेंट कानून-पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान-में धार्मिक भेदभाव एवं उत्पीड़न से प्रताड़ित-पीड़ित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का कानून है। वह भी यदि वो लोग चाहेंगे तब। सिटीजनशिप अमेंडमेंट एक्ट “किसी की नागरिकता लेने के लिए नहीं बल्कि नागरिकता देने के लिए है।

नकवी ने कहा कि कांग्रेस एवं उसके साथी दलों द्वारा नागरिकता कानून पर चलाया जा रहा ‘फेक फैब्रिकेटेड फसाना’ बेनकाब हो रहा है। नागरिकता बिल पर कांग्रेस और उसके साथियों की बकवास ब्रिगेड के बोगस बैशिंग बाजार पर ताला लगना शुरू हो गया है।

About The Lifeline Today

View all posts by The Lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *