मुख्य सचिव ने राज्य में डेंगू की रोकथाम के लिए विभागों को दिए निर्देश

मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में सचिवालय में गुरुवार को डेंगू रोग के प्रभावी रोकथाम और नियंत्रण के सम्बन्ध में बैठक संपन्न हुई। बैठक में डेंगू रोग के प्रभावी रोकथाम और नियंत्रण हेतु सभी सम्बन्धित विभागों ने प्रतिभाग किया।

  • डेंगू के संबंध में जनजागरूकता अभियान चलाएं

मुख्य सचिव ने सभी सम्बन्धित विभागों को निर्देश दिए कि डेंगू की रोकथाम हेतु अभी से सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि डेंगू की रोकथाम हेतु नियमित रूप से स्वच्छता अभियान चलाए जाएं। आमजन में जागरूकता हेतु सूचना विभाग के सहयोग से भी अभियान चलाए जाएं। इसके लिए सोशल मीडिया का उपयोग किया जाए।

  • प्रत्येक जनपद में हो डेंगू की जांच हेतु लैब की व्यवस्था

मुख्य सचिव ने निर्देश दिए कि कोविड-19 के दृष्टिगत विद्यालयों की ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से भी जागरूकता फैलायी जा सकती है। बच्चों में जागरूकता फैलाने से ज्यादा अच्छे परिणाम मिलेंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थाओं के खुलने की परिस्थिति में काफी समय से बन्द पड़े स्कूलों में डेंगू के मच्छर पनपने की अत्यधिक सम्भावना को देखते हुए स्कूल खुलने से पहले सफाई अभियान चलाया जाए। उन्होंने कहा कि डेंगू की रोकथाम हेतु दिशा निर्देशों का पूर्णतः पालन सुनिश्चित किया जाना आवश्यक है। सभी जनपदों द्वारा इसके लिए व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर लें। उन्होंने प्रत्येक जनपद में डेंगू की जांच हेतु लैब की व्यवस्था सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए।
मुख्य सचिव ने सूचना विभाग को डेंगू की रोकथाम और नियंत्रण हेतु स्वास्थ्य विभाग से समन्वय बनाकर आमजन में जागरूकता फैलाने हेतु निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि टेलीविजन, रेडियो, समाचार पत्र आदि के माध्यम से आमजन को डेंगू की रोकथाम में अपनी भागीदारी निभाने हेतु जागरूक किया जाए। उन्होंने पंचायतीराज, ग्रामीण विकास एवं शहरी विकास विभाग को भी स्वच्छता हेतु जारी दिशा निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

  • विभागों द्वारा लगातार की जाए मॉनिटरिंग

सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि डेंगू की रोकथाम हेतु सभी प्रकार की तैयारियां अभी से सुनिश्चित कर ली जाएं। उन्होंने कहा कि लगातार इसकी मॉनिटरिंग भी की जाए। शहरी विकास को नालों की सफाई हेतु निर्देश देते हुए कहा कि इसकी लगातार मॉनिटरिंग करते हुए रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों को इसके लिए एडवायजरी जारी कर दी गयी है। सभी जनपदों द्वारा इसके लिए व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर लें।

इस अवसर पर सचिव आर. मीनाक्षी सुन्दरम, बृजेश कुमार संत, महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ. अमिता उप्रेती, निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन युगल किशोर पंत एवं संयुक्त निदेशक सूचना आशीष त्रिपाठी भी उपस्थित थे।

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *