मुख़्यमंत्री ने पेश किया 53526 करोड़ का बजट

गैरसैंण-बुधवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गैरसैंण में हो रहे बजट सत्र में साल 2020-21 का बजट पेश किया।  जिसमें  53,526 करोड़ का रुपए का बजट पेश करते हुए मुख्यमंत्री ने इसे नई आशाओं, आकांक्षाओं का बजट बताया। इस दौरान उन्होंने कहा कि विभागों में आधारभूत ढांचे को मजबूत करना जरूरी है।  उत्तराखण्ड सरकार 20-20 विजन के तहत काम कर रही है, ताकि जनकल्याण के 25 लक्ष्यों को हासिल किया जाए।

ये हैं बजट 2020-21 की मुख्य बातें

  • हरिद्वार महाकुंभ के लिए वित्तीय वर्ष में 1205 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है. 450 करोड़ के स्थाई और हजार करोड़ के अस्थाई काम होंगे.

 

  • स्कूलों की स्थापना, सुविधाओं के लिए 133 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

 

  • समाज कल्याण, महिला एवं बाल विकास के लिए भी बजट में जगह है.

 

  • वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में 2014.09 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

 

  • वन पंचायतों के लिए भी बजट में व्यवस्था की गई है.

 

  • जायका परियोजना के अन्तर्गत 110 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

 

  • पलायन को रोकने के लिए होम स्टे योजना को बढ़ावा दिया जा रहा है. मूल और अस्थाई लोगों को होम स्टे के तहत मिलेगा अनुदान. योजना के लिए बजट में 11.50 करोड़ रुपये का प्रावधान.

 

  • गंगोत्री नेशनल पार्क में बनेगा देश का पहला स्नो लेपर्ड कन्जर्वेशन सेन्टर.

 

  • हरिपुरा, तुमरिया जलाशय की खाली जमीन पर बनेगा सोलर पावर प्रोजेक्ट.

 

  • मेट्रो रेल के लिए भूमि अधिग्रहण कामों के लिए 100 करोड़ रुपये का प्रावधान.

 

  • अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के लिए 100 करोड़ रुपये का प्रावधान.

 

  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के लिए 380.50 करोड़ रुपये का प्रावधान.

 

  • जमरानी बांध परियोजना के लिए 220 करोड़ रुपये का प्रावधान. गोला नदी पर बनेगा 60 मीटर ऊंचा क्रंकीट ग्रेविटी बांध. हल्द्वानी शहर से 10 किमी. ऑफस्ट्रीम में 136 प्वाइंट पर बनेगा बांध.

 

  • कोसी और रिस्पना नदी को लेकर भी सरकार गम्भीर. दूषित जल प्रभाव को रोकने के लिए 2 परियोजनाएं मंजूर. रामनगर में 54 करोड़, देहरादून में 60 करोड़ लागत की 2 परियोजनाएं स्वीकृत.

 

  • स्मार्ट सिटी के लिए 125 करोड़ की धनराशि प्रस्तावित.

 

  • खेल एवं युवा कल्याण विभाग के लिए 239.24 करोड़ रुपये का प्रावधान.

 

  • 38वें राष्ट्रीय खेलों के आयोजन के लिए 90 करोड़ रुपये का प्रावधान.

 

  • आंगनबाड़ी केन्द्रों में प्रवेश के लिए बच्चों को प्रेरित करेगी सरकार.

 

  • बाल पलाश योजना के लिए 25 करोड़ रुपये की धनराशि का प्रावधान.

 

  • जौलीग्रांट एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जाएगा. इसे विकसित करने के लिए बजट में 295 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

 

  • पंतनगर में ग्रीन फील्ड हवाई अड्डे के निर्माण के लिए जमीन की तलाश जारी.

 

  • रुद्रपुर मेडिकल कॉलेज के लिए केन्द्र सरकार से मिल चुकी मंजूरी.

 

  • पिथौरागढ़, हरिद्वार मेडिकल कॉलेज स्थापित करने के लिए कोशिशें जारी.

 

  • देहरादून, श्रीनगर, नई टिहरी, हल्द्वानी, अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ और धारचूला में भी शुरू होंगी हैलि सेवाएं.

 

  • 2020-21 में खेल महाकुम्भ के लिए 8 करोड़ रुपये का प्रावधान.

 

  • राज्य आपदा प्रबंधन के लिए 864 करोड़ रुपये का प्रावधान.

 

  • इस वित्तीय वर्ष में प्रभावित परिवारों के पुनर्वास के लिए भी व्यवस्था. प्रभावित परिवारों के पुनर्वास के लिए बजट में 20 करोड़ रुपये की व्यवस्था.

 

  • 3 लाख से ज्यादा स्टूडेन्ट्स को स्कूलों में मिलेगा फर्नीचर. करीब 5 हजार कम्प्यूटर्स की भी आपूर्ति की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.