उत्तराखंड: चाइनीज मांझे से कटी युवक की गर्दन और हाथ, हालत नाजुक

हरिद्वार: चाइनीज मांझे पर प्रतिबंध के बावजूद रोक नहीं लग पाने से आए दिन राह चलते लोग इसकी चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो रहे हैं। वहीं प्रशासन हाथ पर हाथ रखे बैठा है।चाइनीज मांझा के विक्रेताओं के खिलाफ सिर्फ छापेमारी कर औपचारिकता पूरी कर ली जाती है। देश के कई हिस्सों से रोज खबरें आती हैं फिर भी प्रशासन उन्हें नदरअंदाज कर देता है ताजा घटना हरिद्वार जिले के ज्वालापुर की है यहां एक बाइक सवार युवक चाइनीज मांझे की चपेट में आने से लहुलुहान हो गया।

मांझे में उलझकर युवक की गर्दन हड्डी तक कट गई, युवक के हाथों की उंगलियों को भी नुकसान पहुंचा। जख्मी होकर सड़क पर गिरने के बाद राहगीरों ने उसे अस्पताल भिजवाया। डॉक्टरों ने युवक का ऑपरेशन किया है। उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। घटना से गुस्साए लोगों ने चाइनीज मांझा बेचने और इस्तेमाल करने वालों पर कार्रवाई की मांग की है। 

पुलिस के मुताबिक ज्वालापुर से सटे गांव सराय निवासी परवेज का एक रिश्तेदार मेला अस्पताल में भर्ती है। गुरुवार की शाम परवेज बाइक पर अपनी पत्नी और बच्चों को साथ लेकर मेला अस्पताल जा रहा था। ज्वालापुर में ऊंचे पुल पर अचानक चाइनीज मांझा परवेज की गर्दन में आकर उलझ गया। मांझा खिंचने से उसकी गर्दन कट गई। घबराहट में परवेज ने जैसे-तैसे बाइक रोकी और हाथ से मांझा निकालना चाहा। दूर कहीं से कोई शख्स मांझा खींचता रहा, जिससे परवेज के हाथ की दो तीन अंगुलियां भी कट गई। लहुलुहान हाकर वह नीचे गिर पड़ा। 

About The Lifeline Today

View all posts by The Lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *