अल्मोड़ा: रौल्याणागूंठ में माकन हुआ ध्वस्त, भवन का मालिक गंभीर रूप से घायल, परिवार बाल-बाल बचा

अल्मोड़ा: शनिवार सुबह सोमेश्वर तहसील अंतर्गत ग्राम रौल्याणागूंठ में एक पुराना मकान अचानक ढह गया। इससे बड़ा हादसा होने से बाल—बाल बच गया। इसमें भवन स्वामी गंभीर रूप से घायल हो गया जबकि उसकी पत्नी व बच्चे बाल—बाल बच गए। घायल को अल्मोड़ा रेफर किया गया है।सुबह मकान ढहने की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष पुलिस फोर्स व आपदा राहत एवं बचाव सामग्री लेकर ग्राम रोल्याणागूंठ पहुंचे। जहां पता चला कि कैलाश राम ( 40 वर्ष) पुत्र दनी राम अपनी पत्नी दीपा देवी एवं दो बच्चों क्रमशः नेहा (5 वर्ष) व काव्य (3 वर्ष) के साथ अपने पुराने घर में मौजूद था।

यह घर इनदिनों अब रसोई के रूप में प्रयोग किया जाता है। सुबह करीब 8 बजे प्रातः अचानक मकान की छत टूटकर गिरने लगी। कैलाश राम ने तत्परता दिखाकर अपनी पत्नी एवं दोनों बच्चों को तत्काल सुरक्षित बाहर निकाल लिया, लेकिन जब स्वयं बाहर निकल रहा था। तो दरवाजे के पास छत का मलवा गिरने से उसकी कमर में चोट आ गयी। वह घायल हो गया। घटना के बाद उसके भाई मनोज कुमार एवं कुन्दन राम आदि उसे इलाज के लिए निजी वाहन से तत्काल सरकारी अस्पताल कौसानी ले गए। गंभीर चोट को देखते हुए डाक्टर ने उसे जिला अस्पताल अल्मोड़ा रेफर कर दिया। कैलाश राम की पत्नी व दोनों बच्चे सुरक्षित हैं। जिन्हें कोई चोट नहीं आयी है।इस घटना में मकान ढह गया। घटना कारण मकान जीर्ण—क्षीर्ण होना तथा छत की बल्लियां टूटना माना जा रहा है। मौके पर मौजूद दीपा देवी ने बताया है कि मकान की दशा खराब होने के कारण कुछ दिन पूर्व कैलाश राम का परिवर दूसरे मकान में शिफ्ट हुआ था और वह इस
पुराने मकान का प्रयोग रसोई के रूप में कर रहे थे।

About The lifeline Today

View all posts by The lifeline Today →

Leave a Reply

Your email address will not be published.